jpg

Cryptocurrency पर लगेगा बैन?

Cryptocurrency पर लगेगा बैन?

अगर आप भी Crypto Currency में पैसे लगाते हैं, तो अब ज़रा संभलने की ज़रूरत है क्योंकि भारत सरकार जल्द ही Crypto Currency पर पूरी तरह से बैन लगाने वाली है।

संसद के शीतकालीन सत्र(Winter Session of Parliament) में जो नए Bill पेश किए जाएंगे, उनकी सूची में 10 वें नंबर पर Crypto Currency से जुड़ा बिल है। उसमें साफ-साफ लिखा है कि भविष्य में Reserve Bank Of India की ओर से जारी की जाने वाली Crypto Currency को छोड़कर बाकी सभी Private Crypto Currencies पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। 

केंद्र सरकार के सख्त रुख के बाद क्रिप्टो मार्केट में गिरावट भी देखने को मिली है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक भारत छोटे निवेशकों की सुरक्षा करते हुए क्रिप्टोकरेंसी को वित्तीय संपत्ति (Cryptocurrency as an asset) के रूप में मानने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। 

केंद्र सरकार 29 नवंबर से शुरू होने वाले सत्र में ये बिल पेश कर सकती है। पहचान छिपाने की शर्त पर इससे जुड़े लोगों ने बताया कि क्रिप्टो को वैध करेंसी मान्यता नहीं दी जाएगी, लेकिन डिजिटल मुद्रा के रूप में इसमें निवेश हो सकेगा, उसके लिए भी न्यूनतम राशि निर्धारित की जा सकती है। 

सरकार ने लोकसभा की वेबसाइट पर मंगलवार की देर रात एक नोटिफ‍िकेशन में कहा था कि बिल भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने का प्रयास कर रहा है, लेकिन कुछ अपवादों को क्रिप्टोकरेंसी और इसके उपयोग की अंतर्निहित तकनीक को बढ़ावा देने की अनुमति देगा। 

अनिश्चितता के चलते बुधवार को Shiba Inu और Dogecoin भी बहुत नीचे आ गए। भारत के प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों में से एक, WazirX प्लेटफॉर्म पर ट्रेडिंग में 20% से अधिक नीचे थे। वे Binance या Kraken जैसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर बहुत कम प्रभावित हुए। 

एक ओर सरकार अगले बजट में क्रिप्टोकरेंसी से लाभ पर कर(Tax) लगाने पर विचार कर रही है, वहीं भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) डिजिटल मुद्राओं पर पूर्ण प्रतिबंध चाहता है क्योंकि केंद्रीय बैंक को लगता है कि यह देश की व्यापक आर्थिक और वित्तीय स्थिरता को प्रभावित कर सकता है। 

इस महीने की शुरुआत में, पीएम मोदी ने क्रिप्टोकरेंसी पर एक बैठक की थी, जिसके बाद अधिकारियों ने कहा कि भारत अनियमित क्रिप्टो बाजारों को मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग का रास्ता नहीं बनने देगा। 


 


 


Comment As:

Comment (0)