Horoscope, 17 January 2022: इन राशियों के जातक रहें सावधान, मिलेगा अशुभ परिणाम, पढ़ें अपना राशिफल, "भाजपा सीटें घोषित करने में जितना विलंब करेगी, उसकी मुश्किलें उतनी ही बढ़ेगी", 17 जनवरी को लॉन्च होगा Tata Safari का Dark Edition, कंपनी ने किया टीजर शेयर, पार्टी में दिखना चाहती है आकर्षक, तो जान लें अपना बॉडी शेप , WHO ने बताया, Omicron से बचने के लिए Immunity को ऐसे करें मज़बूत, Miss & Mrs. Banaras प्रतियोगिता में Samiksha Keshri और Vandana Singh ने जीता ख़िताब, सपा नेता ने पार्टी कार्यालय के बाहर की आत्मदाह की कोशिश, टिकट न मिलने पर था नाराज, भारत की Tasnim Mir ने रचा इतिहास, यूपी में गलन वाली ठंड, रद्द की गई कई ट्रेनें, जानें मौसम अपडेट, Lakshya Sen और Chirag-Satwik की जोड़ी इंडिया ओपन के फाइनल में,

Suicide_oGDfMeI_TasQoCW

पीसीएफ गोदाम के भंडार नायक ने की खुदखुशी

पीसीएफ गोदाम के भंडार नायक ने की खुदखुशी

सुलतानपुर में आज पीसीएफ गोदाम के भंडार नायक ने खुदखुशी कर ली। आरोप है कि गोदाम में विभागीय कर्मचारियों ने लाखों की खाद का गबन कर लिया गया और सारा आरोप भंडार नायक पर मढ़ने की तैयारी में थी। इसके लिये बीती रात भंडार नायक ने अपने दोस्त से मोबाइल पर चर्चा कर ली थी। फिलहाल मृतक और दोस्त की ऑडियो रिकॉर्डिंग पूरे मामले पर खुद ब खुद पर्दा उठा रहा है।

दरअसल ये मामला है नगर कोतवाली के पयागीपुर स्थित पीसीएफ गोदाम का। इसी गोदाम पर लखनऊ का रहने वाला सिद्धार्थ वर्धन भंडार नायक के पद पर तैनात था। बीती रात सिद्धार्थ ने अपने लखनऊ के दोस्त आदर्श को फोन किया और कहा कि उसके गोदाम में करीब 100 टन खाद गोदाम से गायब है। जिसमें विभागीय कर्मचारियों की मिलीभगत बताते हुये सिद्धार्थ ने सुसाइड करने की बात कही। 

सिद्धार्थ का दोस्त आदर्श उसे लाख समझाता रहा लेकिन उसने उसकी कोई बात न सुनी और रात में सुसाइड कर लिया। हैरानी की बात तो ये है पीसीएफ गोदाम में 16 कर्मचारी हैं। रात में भी करीब 4-5 लोग रुकते हैं। लेकिन उसे अस्पताल आज दोपहर लाया गया। जहां जिला अस्पताल लाते समय सिद्धार्थ की मौत हो गई।वहीं आदर्श की माने तो पिछली बार भी इसी गोदाम पर कार्यरत रंगबहादुर ने करीब साढ़े 7 टन खाद का घोटाला किया था।उसके बावजूद उसपर कोई कार्यवाही नही हुई।

वहीं इस मामले पर जब रनबहादुर से बात की गई तो वो अपने आप को पाक साफ बता रहा है। उसकी माने तो रात में घर चला गया था आज वापस पहुंचा उसे आज इस बात की जानकारी हुई।

हैरानी की बात तो ये रही कि पीसीएफ गोदाम के प्रबंधक प्रमोद को गोदाम में खाद की कमी की कोई जानकारी ही नही। उन्होंने कहा कि मृतक सिदार्थ वर्धन की प्रगति ठीक नही थी, इसी वजह से उनपर कड़ाई की गई थी। कि अगर ऐसा था तो उन्हें पुलिस कंपलेन करना चाहिये था। फिलहाल हरकत में आये जिला प्रशासन ने पीसीएफ गोदाम सील करवा दिया है और मामले की जांच करवाए जाने की बात कही जा रही है , वही जिला प्रशासन ने गोदाम को सील करवा दिया है ।
 


Comment As:

Comment (0)