Horoscope, 17 January 2022: इन राशियों के जातक रहें सावधान, मिलेगा अशुभ परिणाम, पढ़ें अपना राशिफल, "भाजपा सीटें घोषित करने में जितना विलंब करेगी, उसकी मुश्किलें उतनी ही बढ़ेगी", 17 जनवरी को लॉन्च होगा Tata Safari का Dark Edition, कंपनी ने किया टीजर शेयर, पार्टी में दिखना चाहती है आकर्षक, तो जान लें अपना बॉडी शेप , WHO ने बताया, Omicron से बचने के लिए Immunity को ऐसे करें मज़बूत, Miss & Mrs. Banaras प्रतियोगिता में Samiksha Keshri और Vandana Singh ने जीता ख़िताब, सपा नेता ने पार्टी कार्यालय के बाहर की आत्मदाह की कोशिश, टिकट न मिलने पर था नाराज, भारत की Tasnim Mir ने रचा इतिहास, यूपी में गलन वाली ठंड, रद्द की गई कई ट्रेनें, जानें मौसम अपडेट, Lakshya Sen और Chirag-Satwik की जोड़ी इंडिया ओपन के फाइनल में,

Narendra-Modi-PIB

पीएम मोदी के जीत के मंत्र

पीएम मोदी के जीत के मंत्र

2022 में होने वाले चुनावों में परचम लहराने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी कमर कस ली है। हाल ही में हुए उपचुनावों में अपेक्षा के अनुरूप परिणाम नहीं मिलने के कारण भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक रखी है। उपचुनावों के परिणाम के मद्देनज़र ये बैठक काफी एहम मानी जा रही है। 

कहा जा रहा है कि, इस बैठक में पीएम मोदी कार्यकारिणी के देशभर के सदस्यों को पार्टी को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है इसका मंत्र देंगेऔर पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा के चुनाव, किसान आंदोलन, महंगाई के मुद्दे समेत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले सात साल में केंद्र सरकार की उपलब्धियों भी केंद्रित करेंगे। 

आपको बता दें, यह एक दिनी बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के भाषण से शुरू होगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समापन भाषण से समाप्त होगी।

कोविड महामारी के दौरान की कामयाबी और टीकाकरण अभियान के विकास के लिए पीएम मोदी की ‘आत्मनिर्भर भारत’ की पहल व उनकी सफल विदेश यात्रा को लेकर भी पार्टी प्रशंसा करेगी। बैठक में देश की आर्थिक गतिविधियों में जबर्दस्त उछाल, रेकॉर्ड जीएसटी कलेक्शन को लेकर भी चर्चा की जाएगी। 

बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की इस बैठक के एजेंडे में आने वाले विधानसभा चुनावों और कई अन्य सामयिक मुद्दों पर चर्चा शामिल है। 2022 में कुल सात राज्यों के विधानसभा चुनाव होंगे। पांच राज्यों- उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होंगे, जबकि हिमाचल प्रदेश और गुजरात में चुनाव साल के अंत में होंगे। पंजाब को छोड़कर इन सभी राज्यों में बीजेपी सत्ता में है। 


 


Comment As:

Comment (0)