भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए तपस्वी छावनी में संत सनातन धर्म संसद, थाना प्रभारी की कार्यशैली को लेकर भाजपा नेता अपने समर्थकों के साथ धरने पर , दबंग प्रधान की दहशत से परिवार का पलायन, चार लुटेरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार,तीन मोटरसाइकिल व चार अवैध तमंचा सहित कारतूस बरामद, ज़हर खाई हुई महिला की अस्पताल पहुँचने से पहले हुई मौत , UP Election 2022: मिशन यूपी 2022 की तैयारी में जुटी कांग्रेस, 5 दिवसीय यूपी दौरे पर प्रियंका गांधी, बनाएंगी चुनावी रणनीति, Bharatiya Kisan Union: टिकैत गुट ने किया जमकर प्रदर्शन, रोड जाम की कोशिश को प्रशासन ने किया नाकाम, वरुण गांधी की CM योगी को चिट्ठी, गन्ने का समर्थन मूल्य 400 रुपए करने की मांग, World Tourism Day 2021: फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर करे वर्ल्ड टूरिज्म डे पर ये फोटोज, मैसेज, Sanyukta Kisan Morcha: संयुक्त किसान मोर्चा के 30 कार्यकर्ता हुए गिरफ्तार,

download (2)

Covid-19: Covid-19 की तीसरी लेहेर की आशंकाओं पर PM मोदी ने की समीक्षा बैठक

Covid-19: Covid-19 की तीसरी लेहेर की आशंकाओं पर PM मोदी ने की समीक्षा बैठक

कोविड-19 और वैक्‍सीनेशन को लेकर पीएम मोदी ने शुक्रवार को हाई लेवल मीटिंग की और कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति और तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर जरूरी दवाओं के बफर स्टॉक समेत तैयारियों का जायजा लिया। 

सरकार ने केरल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में ज्यादा मामलों का उल्लेख करते हुए कहा है कि किसी भी तरह की ढिलाई नहीं की जा सकती है।  प्रधानमंत्री ने अगले कुछ महीनों के लिए वैक्सीन के उत्पादन, आपूर्ति और पाइपलाइन की समीक्षा की साथ ही म्यूटेंट के उद्भव की निगरानी के लिए निरंतर जीनोम अनुक्रमण की आवश्यकता के बारे में बात की। 

'सुनिश्चित हो ऑक्‍सीजन, एंबुलेंस की व्‍यवस्‍था' 
पीएम मोदी ने ऑक्सीजन सांद्रक, सिलेंडर और पीएसए संयंत्रों सहित ऑक्सीजन की उपलब्धता में वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए इससे जुड़े समूचे तंत्र को तेजी से बढ़ाने की आवश्यकता को रेखांकित किया। सरकार ने कहा कि प्रत्येक जिले में कम से कम एक पीएसए संयंत्र लगाने के उद्देश्य के साथ 961 तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन भंडारण टैंक और 1,450 चिकित्सकीय गैस पाइपलाइन सिस्टम स्थापित करने का भी प्रयास किया जा रहा है। प्रत्येक ब्लॉक में कम से कम एक एम्बुलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए एम्बुलेंस नेटवर्क को भी बढ़ाया जा रहा है।

 

मोदी ने देश भर में लगने वाले पीएसए ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थिति की भी समीक्षा की और बताया कि राज्यों को करीब एक लाख ऑक्सीजन सांद्रक और तीन लाख ऑक्सीजन सिलेंडर बांटे जा चुके हैं। टीकों पर, बयान में कहा गया है कि देश की लगभग 58 प्रतिशत वयस्क आबादी ने पहली खुराक ले ली है और लगभग 18 प्रतिशत दोनों खुराक प्राप्त कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री को बताया गया कि आईएनएसएसीओजी (INSACOG (Indian SARS-CoV-2 Consortium on Genomics or Indian SARS-CoV-2 Genetics Consortium) के तहत अब देश भर में 28 प्रयोगशालाएं हैं। प्रधानमंत्री ने देश भर में पर्याप्त जांच सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला और सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में आरटी-पीसीआर प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए 433 जिलों को दिए जा रहे सहयोग के बारे में बताया। बैठक में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार, स्वास्थ्य सचिव, सदस्य (स्वास्थ्य) नीति आयोग समेत अन्य महत्वपूर्ण अधिकारी मौजूद थे।
 


Comment As:

Comment (0)