Indian Air Force D

अलीगढ़: नाबालिक बच्चियों को थर्ड डिग्री, 'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ' की उड़ाई धज्जियाँ

अलीगढ़: नाबालिक बच्चियों को थर्ड डिग्री, 'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ' की उड़ाई धज्जियाँ

मौजूदा सरकार में एक नारा दिया गया है, 'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ' लेकिन यह बात अब गलत साबित होती हुई नजर आ रही है। आये दिन बेटियों ओर महिलाओं पर मारपीट और जुर्म की घटनाएं स्वम जनता के रक्षकों के द्वारा ही अंजाम दिया जा रहा है। जिसको लेकर समाज मे खाकी के प्रति आक्रोश व्याप्त है। 

दरसअल पूरा मामला अलीगढ़ के कोतवाली अतरौली क्षेत्र का है। जहाँ करन सिंह अपने परिवार के साथ अपने खेत मे बनी झोपड़ी में रहकर गुजर वसर करता है। उसका पूरा परिवार खेती बाड़ी करके अपना पालन पोषण करता है। करन सिंह की जो पुश्तेनी जमीन है। जिस पर पूर्व में अपने भाइयों से भी विवाद चला जो कि न्यायालय के द्वारा स्पष्ट हो चुका है। 

करन उसी जमीन पर खेती बाड़ी करता है। करन सिंह का कहना है कि उसके भतीजा उसकी जमीन हड़पना चाहता है। उसी के उद्देश्य से करन सिंह का भतीजा विवाद करता है। करन सिंह ने बताया 28 अगस्त को जब मेरी नाबालिक बेटियां एक कि उम्र 12 साल ओर एक कि उम्र 16 साल की है । खेत मे काम कर रही थी। तभी मेरा भतीजा कोतवाली पुलिस की एसआई ज्योति श्रीवास्तव व अन्य पुलिस कर्मियों के साथ पहुचा और मेरी पत्नी और बेटियों के साथ मारपीट शुरू करदी। 

जब इसका विरोध करना शुरू किया तो मेरी नाबालिक बेटियों को पुरुष पुलिस वालों ने मारापीटा ओर थाने पकड़ कर  ले गयी । जब बच्चियो ने अपने मोबाइल से वीडीओ बनाई तो पुलिस वालो ने मोबाइल छीन लिया और अपने साथ ले गए। बच्चियो के साथ महिला एसआई ज्योति श्रीवास्तव ने थाने में थर्ड डिग्री देते हुए जमकर कहर ढहाया साथभी बदसलूकी। 

करने के बाद  151 में जेल भेज दिया जब करन सिंह ने इस बात की शिकायत समन्धित अफसरों से की तो अफसर अपनी एसआई को बचाते नज़र आये करन सिंह ने अपनी बेटियों का मेडिकल परीक्षण कराने की बात कही तो उसकी बात को भी अनसुना किया गया। और कानून की धज्जियां कानून के रखवालो के द्वारा खूब उड़ाई।

आये दिन पीड़ित परिवार को जमीन खाली कराने की धमकियां दी जा रही है जमीन खाली ना करने पर जान से मारने की बात कही जाती है। बच्चियो ने बताया कि पुरुष पुलिस ने हमारे साथ छेड़खानी भी की। वही पीड़ित परिवार पर आए दिन झूठी एफआईआर की जाती है। जिससे पीड़ित परिवार भयत ज्यादा सदमे में हैं। वही करन सिंह का कहना है यदि मुझे ओर मेरे परिवार को न्याय नही मिला तो में आत्मदाह कर लूंगा।

जब इस मामले में समन्धित अधिकारी से बात करनी चाही तो उन्होंने इस मामले कुछ बोलने से इनकार किया।

ख़ालिक़ अंसारी


Comment As:

Comment (0)