tri

राममंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक हुई सम्पन्न

राममंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक हुई सम्पन्न

अयोध्या में राममंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक मंगलवार को देर शाम सर्किट हाउस में मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। दो शिफ्ट में मंदिर निर्माण सीमित की बैठक चली। इस दौरान बैठक में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय सदस्य डॉ अनिल मिश्रा कारदायी संस्था एलएनटी टाटा कंसल्टेंसी के इंजीनयर बैठक में मौजूद रहे।

Second Day Meeting Of Ram Mandir Nirman Samiti In Ayodhya. - अयोध्या: राम  मंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक में पत्थरों के प्रयोग व सुरक्षा पर  हुई चर्चा - Amar

कल की बैठक में राम मंदिर में प्रकाश व सुरक्षा व्यवस्था पर भी चर्चा हुई। वही बैठक के बाद मिडिया से बात करते हुए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि रामलला के राम मंदिर में हर रामनवमी पर रामलला का अभिषेक भगवान सूर्य की सुनहरी किरणों पर चर्चा हुई। 

राम मंदिर में पूजा-पाठ का इंतजार करने वालों के लिए खुशखबरी, इस साल से कर  सकेंगे दर्शन - Ayodhya Ram Mandir Good News Bhakts will be able to do  darshan and worship

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों से अपील की है, खोजें ऐसी तकनीक ताकि सूर्य की किरणों से रामलला का अभिषेक हो सके। राम मंदिर के अंदर प्रकाश के विशेष अवसरों पर किस तरह का प्रकाश व्यवस्था हो इसपर भी चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि मंदिर का बाहरी भाग कैसे प्रकाशित हो। हमारा प्रयास प्रकाश को सदैव एक सा रहने का आम दिनों में कैसा हो। त्योहारों पर प्रकाश कैसा हो।जन्मोत्सव के अवसर पर लाइटिंग की व्यवस्था कैसी हो,इन सब बिंदु पर चर्चा हुए। 

Ram Mandir: राम मंदिर: गर्भगृह के नजदीक रामलला की ये मूर्ति होगी स्थापित! -  Navbharat Times

रामलला के भव्य राम मंदिर के अंदर दीवारों व खंभो पर मूर्तियां बनाई जाएंगी और परकोटा के अंदर भी मूर्तिया बनाई जाएंगी। दशावतार,नवग्रह, शक्ति पीठ की मूर्तियां बनाई जाएंगी। बिजली के लिए आधुनिक तकनीक का प्रयोग होगा। बिजली के लिए तारों का नहीं प्रयोग होगा।

इसे भी पढ़ें:  राममंदिर निर्माण समिति की पहले दिन की बैठक सम्पन्न 

वही कहा कि जिस तरह से साउंड सिस्टम बेतार का होता है वैसी प्रकाश व्यवस्था की जायेगी। मंदिर में हमेशा भजन बजता रहेगा। सुरक्षा भी आधुनिक होगी। सुरक्षा में तकनीक का प्रयोग होगा। मैन पावर का कम प्रयोग होगा।

Raghvendra Mishra

Comment As:

Comment (0)